Coronavirus

दिल्ली में लगेगा वीकेंड लॉकडाउन, कोरोना पर CM अरविंद केजरीवाल ने किए बड़े ऐलान

कोरोना की लहर के बीच दिल्ली में ICU बेड्स की भारी किल्लत, केजरीवाल सरकार ने उठाया ये कदम
Email :16

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोविड​​-19 (Covid-19 in Delhi) के मामले हर दिन तेजी से बढ़ रहे हैं और मौत के आंकड़ों में भी लगातार वृद्धि हो रही है. इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  और उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ बैठक की और कोरोना को लेकर बड़े फैसले किए.

दिल्ली में लगेगा वीकेंड कर्फ्यू

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में वीकेंड कर्फ्यू लगाया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘दिल्ली सरकार ने दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया है. हम जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों और शादियों के लिए लोगों को कर्फ्यू पास देंगे. मॉल, जिम, स्पा, ऑडिटोरियम को बंद करने के निर्देश दिए जा रहे हैं. सिनेमा हॉल 30 प्रतिशत क्षमता पर चल सकते हैं.’

दिल्ली में 30 अप्रैल तक लागू है नाइट कर्फ्यू

दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने 6 अप्रैल को नाइट कर्फ्यू (Night Curfew in Delhi) लगा दिया था, जो 30 अप्रैल तक लागू रहेगा. नाइट कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली कोरोना वायरस से प्रभावित शहरों में सबसे ऊपर है. दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 17282 नए मामले सामने आए और संक्रमण की वजह से 104 लोगों की मौत हुई. स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि दिल्ली में अब तक संक्रमितों की कुल संख्या 7,67,438 हो गई है और 11540 मरीजों की मौत हो चुकी है. राजधानी में अब कोरोना वायरस संक्रमण के एक्टिव केस भी बढ़कर 50736 हो गए हैं। वहीं, अब तक कुल 705162 मरीज इस महामारी को मात देकर कोरोना मुक्त हो चुके हैं.

दिल्ली सरकार ने आदेश दिया है कि अस्पतालों से बैंक्वेट हॉल जोड़े जाएं, जिससे बेड्स की संख्या बढ़ाई जा सके. सरकार ने दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में कोविड-19 बेड्स की संख्या बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने जानकारी दी है कि कुल 13 हजार बेड तैयार हैं. अभी संख्या और भी बढ़ाई जा रही है. राजधानी में वेंटिलेटर की कमी नहीं है, सरकार की जो ऐप है उसपर डाटा बिल्कुल सही है. जांच रिपोर्ट में देरी पर मंत्री ने कहा कि अधिकतर रिपोर्ट 24 घंटे के भीतर आ रही हैं, जहां देरी है वहां पर एक्शन लेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts